Australia Deputy PM Richard Marles UPI Payment After drinking nimbu pani Know how it became possible । आस्ट्रेलियाई डिप्टी पीएम ने भारत में किया UPI, जानें कैसे विदेशी नंबर से संभव हुआ यूपीआई पेमेंट

115 views

Upi, lemon water, australian deputy pm, Business News in Hindi, Business Diary News in Hindi, world - India TV Hindi

Image Source : फाइल फोटो
आस्ट्रेलियाई पीएम ने भारत में यूपीआई से किया पेमेंट।

Australian Deputy PM Richard Marles:  19 नवंबर को क्रिकेट वर्ल्ड कप 2023 का फाइनल मैच था जिसे देखने के लिए लाखों की भीड़ पहुंची हुई थी। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुए इस फाइनल मैच को देखने के लिए आस्ट्रेलिया के डिप्टी पीएम और रक्षा मंत्री रिचर्ड मार्ल्स भी पहुंचे हुए थे। भारत जरूर इस मैच को हार गया लेकिन इस सीरीज में कई ऐसे पल रहे जो सुर्खियां बटोर रहे हैं। इसी कड़ी में आस्ट्रेलिया उप प्रधानमंत्री का एक वीडियो भी जमकर वायरल हो रहा है। 

दरअसल मैच खत्म होने के बाद दिल्ली के एक स्टॉल में नीबू पानी तो वहीं एक दुकान में राम लड्डू लुत्फ उठाते हुए नजर आ रहे हैं। खास बात यह है कि नींबू पानी पीने के बाद आस्ट्रेलियाई पीएम ने दुकानदार के पास रखे क्यूआर कोड को स्कैन करके UPI के जरिए पेमेंट किया। यूपीआई पेमेंट का उनका यह वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है। 

आपको बता दें कि भारत ही एक ऐसा देश है जहां यूपीआई के जरिए कैशलेस पेमेंट की सुविधा मिलती है। भारत ने ही इसकी शुरुआत की है। UPI के जरिए कैशलेस पेमेंट की यह व्यवस्था देखकर खुद आस्ट्रेलियाई पीएम भी हैरान रह गए और उन्होंने इसकी जमकर प्रशंसा की।  अब इस बात की जमकर चर्चा हो रही है कि आखिर विदेशी नंबर होते हुए भी रिचर्ज मार्ल्स ने UPI से कैसे पेमेंट किया। तो आइए आपको बताते हैं कि यह किस तरह से संभव है। 

कैसे होता है विदेशी नंबर से UPI

आपको बता दें कि भारत ने विदेशी मेहमानों के लिए पेमेंट की खास व्यवस्था की है ताकि उन्हें किसी भी तरह की दिक्कक न हो। UPI से पेमेंट करना अब फॉरेन नेशनल्स और NRI’s के लिए भी उतना ही आसान हो गया है, जितना भारतीयों के लिए है। भारत सरकार ने एयरपोर्ट पर KIOSK सेंटर बनाए हुए हैं। ऐसे में जब भी कोई विदेश से आता है तो उसे HSBC, HDFC या फिर Paytm जैसे KIOSK सेंटर पर विजिट करना होता है। 

इन KIOSK सेंटर पर विदेशी मेहमान अपनी जरूरत के के अनुसार पेमेंट करना होता है जिसके बाद बैंक उसके फोन पर  PPI यानी की एक Prepaid Instrument Wallet क्रिएट कर देता है। यानी अगर किसी व्यक्ति ने 2500 डॉलर्स दिए तो उसके PPI वॉलेट में 20 हजार 800 रुपये ट्रांसफर कर दिए जाएंगे। इसके बाद वह व्यक्ति इस वॉलेट के थ्रू भारत में कहीं भी UPI कर सकता है। 

यह भी पढृें- जियो के ये हैं कमाल के प्लान्स, डेली 5GB डेटा के साथ 96GB तक मिलेगा एक्स्ट्रा डेटा

https://www.indiatv.in/tech/tech-news/australia-deputy-pm-richard-marles-upi-payment-after-drinking-nimbu-pani-know-how-it-became-possible-2023-11-23-1003468

Related Posts

Leave a Comment